Monday, October 24, 2016

Connection

Connection - that's what I am looking for.

But not of the kind that we form on social media
In fact, the kind that is the farthest from it

The kind that makes you feel
Actually makes you feel
Not that hollow thing that make you RT, like or upvote
The kind that fills you up, overwhelms you, makes you brim over
Not the kind that makes you feel all the more empty inside

I wish I could laugh at the joke you shared for everyone to see
But I can't

I'm not looking for what's public
I'm looking for something personal
Deeply intimate

Share with me your deepest fears
Not your superficial smiles or Instagram meals

Only then can I share with you
The me that I guard with all my will

Sunday, October 23, 2016

जड़ें

वे कहते हैं, अपनी जड़ें खोजो
नहीं खोजनी मुझे, अपनी जड़ें

नहीं जाना उस महिमामंडित गहराई में,
जिसकी वे बातें करते हैं -
जिससे निकलने में
सारी आयु और ऊर्जा लगा डाली

नहीं चाहिए वो स्थिरता
जिसको खोने में
अपनी स्वतंत्रता पाई है

सही है,
कि कुछ लोग वृक्ष होते हैं
जो फल और फूल
छाया और स्थिरता सब देते हैं

पर कुछ वायु भी होते हैं
कुछ भ्रमर भी होते हैं
जो बीजों को पहुँचाते हैं अपने पंखों पर बिठा
उन जगहों पर,
जहाँ उस वृक्ष की छाया नहीं पहुँचती
और जड़ें भी

और देते हैं अवसर मरुओं को
ख़ुद की छाया और फल और फूल उपजाने का
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...